मध्यप्रदेश
28-11-2016
गुना। गुना से स्र्ठियाई के बीच डबल लाइन का सीआरएस इंस्पेक्शन के बाद अब रेलवे द्वारा इंटरलॉकिंग का कार्य किया जा रहा है। इसके चलते 11 दिसंबर तक रेलवे ने कुछ गाड़ियों को रद्द किया है, तो किसी गाड़ी को एक स्टेशन पहले ही रोककर वापस लौटाया जा रहा है। रविवार को बीना से गुना की ओर आने वाली पैसेंजर मावन पर रोक दी गई। ऐसे में यात्रियों को करीब डेढ़ किमी पैदल चलकर ऑटो पकड़ना पड़ी।
28-11-2016
गुना। जिले के धरनावदा थानाक्षेत्र के तहत गादेर घाटी पर खेत में बने एक टपरे पर शनिवार की रात एक दर्जन से अधिक बदमाशों ने धावा बोला। आरोपियों ने घर के बाहर सो रहे वृद्ध को पहले तो जगाया और घर में रखी हुई रकम और स्र्पए पैसे निकालकर लाने के लिए कहा। इसके बाद जब वृद्ध ने खुद को गरीब बताते हुए घर में कुछ भी नहीं होने की बात कही, तो आरोपियों ने बंदूक की नोक पर टपरे में बंधी करीब 35 बकरियां खुलवाई और उन्हें ले जाने लगे।
27-11-2016
भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि भारत को काले धन, जाली करेंसी और आतंकवाद जैसी समस्याओं से निपटने के लिये पारदर्शी डिजीटल इकोनॉमी की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी के निर्णय के दूरगामी परिणाम अच्छे होंगे। यह फैसला भारत के सुनहरे भविष्य के लिये लिया गया है। मुख्यमंत्री आज यहाँ रवीन्द्र भवन में ऑल इंडिया देना बैंक आफीसर्स फेडरेशन के 23वें द्विवार्षिकी मिलन सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। 
27-11-2016
भोपाल : प्रदेश में डिजिटल करेंसी के उपयोग को बढावा देने के लिये एक दिसंबर से हर ग्राम पंचायत में जिला प्रशासन और बैंक मिलकर शिविर लगायेंगे। इन कैंपों में उन सभी लोगों के खाते खोले जायेंगे और रूपे कार्ड दिये जायेंगे जिन्हें अब तक नहीं मिल पाए हैं। खाताधारकों को रुपे कार्ड का उपयोग करने और इसे सुरक्षित रखने के उपाय भी बताये जायेंगे। प्रत्येक बैंक की एक ब्रांच एक दिन एक ग्राम पंचायत में केम्प लगायेगी। इन कैंपों के आयोजन में जिला प्रशासन सहयोग करेगा। संबंधित ग्राम पंचायत के सचिव और सरपंच भी इन कैंपों में उपस्थित रहेंगे। 
27-11-2016
भोपाल : प्रदेश के व्यापारियों को. पॉइंट ऑफ सेलिंग (पी.ओ.एस.) मशीनें उपलब्ध करवाने पर विचार हो रहा है। श्री चौहान आज मुख्यमंत्री निवास में डिजिटल इंडिया अभियान लांचिग कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस अभियान का संयोजन उच्च शिक्षा विभाग के कैम्पस टू कम्यूनिटी कार्यक्रम में किया जा रहा है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और राष्ट्रीय सेवा योजना इसमें शामिल होंगे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने अभियान के जागरूकता वाहन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 
26-11-2016
Image result for medicinभोपाल। मप्र में आयुर्वेदिक डॉक्टर तीन महीने की ट्रेनिंग लेकर एलोपैथी दवाएं लिख सकेंगे। आयुर्वेदिक डॉक्टरों को चुनिंदा बीमारी की दवा लिखने का ही अधिकार होगा। मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद आयुष विभाग ने कानून में संशोधन पर काम शुरू कर दिया है। आगामी विधानसभा सत्र में संशोधन विधेयक आ सकता है। आयुष विभाग के सूत्रों के मुताबिक स्वास्थ्य केंद्रों में डॉक्टर की कमी दूर करने के लिए आयुष डॉक्टरों को एलोपैथी लिखने का अधिकार दिया जाएगा।
26-11-2016
Image result for chana dalभोपाल। चना की कीमत 90 से 100 रुपए किलोग्राम के बीच होने के चलते सरकार अब राशन दुकानों से सस्ते दाम पर चना बेचेगी। एक परिवार को एक माह में सिर्फ दो किलोग्राम चना मिल सकेगा। जाएगा। हितग्राही को 64 रुपए प्रति किलोग्राम के हिसाब से दाम चुकाने होंगे। केंद्र की बाजार हस्तक्षेप योजना भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर, उज्जैन, सागर और सतना में लागू होगी।
26-11-2016
Image result for bus standधार। प्रदेशभर में बस संचालकों को नोटबंदी के बाद बनी परिस्थितियों के बाद आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है। मप्र बस ऑनर्स एसोसिएशन ने कहा है कि बसों में ट्रैफिक इस समय वैवाहिक समारोह के कारण बढ़ जाता है लेकिन हालात यह है कि पूरे प्रदेश में बसों में आवाजाही करने वाली सवारी की संख्या करीब 40 फीसदी गिर गई है। एसोसिएशन ने मांग की है कि उन्हें टैक्स भरने से मुक्त किया जाए।
25-11-2016
इंदौर। नोटबंदी पर सवाल उठाते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव दिग्विजय सिंह ने गुरुवार को कहा कि बीते दो महिनों में 30 हजार करोड़ रुपए विदेशों में जमा हुए। 8 मई को बंगाल की भाजपा इकाई ने तीन करोड़ रुपए बैंक में जमा कराए। यदि प्रधानमंत्री वाकई कालाधन रोकना चाहते हैं तो वे उन लोगों की सूची सार्वजनिक करे, जिन्होंने एलआरए स्कीम में विदेशों में सालभर में पैसा जमा कराया है। सिंह ने कहा कि अक्सर यह कहा जाता है कि कांग्रेस को विरोध करना नहीं आता और भाजपा को सरकार चलाना।
25-11-2016
इंदौर। नए साल से इंदौर में पासपोर्ट ऑफिस शुरू हो जाएगा। इससे मालवा-निमाड़ के 16 जिलों के लोगों को पासपोर्ट बनावाने के लिए भोपाल नहीं जाना होगा। इसके साथ ही मध्यप्रदेश उन राज्यों में शुमार हो जाएगा जहां दो पासपोर्ट ऑफिस काम कर रहे हैं। विदेश मंत्रालय के सूत्रों का दावा है कि प्रदेश की व्यावसायिक राजधानी इंदौर के बाशिंदे सबसे ज्यादा विदेश यात्राएं करते हैं।