स्पेशल रिपोर्ट
देवदत्त दुबे -
मध्यप्रदेश कांग्रेस के नये प्रभारी दीपक बावरियाने प्रदेश में बैठक करके और कुछ जिलों का दौरा करके यही फीडबैक पाया कि यदि प्रदेश में कांग्रेस के क्षत्रप नेताओं में एकता हो जाये तो फिर प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनती है। सो, दीपक बावरिया ने 14 नवंबर को दिल्ली में प्रदेश के क्षत्रप नेताओं के बीच समन्वय बनाने और आगे से एक साथ कदमताल करने के लिए महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की है जिसमें पूर्व केन्द्रीय मंत्री कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया, सुरेश पचौरी, प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव, नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह एवं मीनाक्षी नटराजन को विशेष रूप से बुलाया गया है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह नर्मदा सेवा यात्रा करने के कारण बैठक में शामिल नहीं होंगे।....
देवदत्त दुबे -
चित्रकूट विधानसभा के उपचुनाव के लिए मतदान संपन्न होने के साथ ही सोशल मीडिया से लेकर चाय, चौपाल और सत्ता के गलियारों में कयासों का दौर शुरू हो गया जो 12 नवंबर की दोपहर मतगणना पूरी होने तक चलेगा। कोई इसे जनबल और कोई सत्ता बल का संघर्ष बता रहा है तो कोई विकास के लिए जनादेश लेकिन इतना तय है कि चित्रकूट में मतदाताओं ने एक बार फिर अपने अस्तित्व का भान करा दिया तभी प्रदेश के दोनों ही प्रमुक दलों को न केवल पूरी ताकत झोंकनी पड़ी। वरन तमाम प्रयासों के बाद भी दो मतदान केन्द्रों पर मतदाता चुनाव का बहिष्कार करते रहे और अंत तक दोनों दल उन्हें वोट डलवाने के लिए तैयार नहीं कर पाये। दरअसल, चित्रकूट विधानसभा क्षेत्र पहाड़ी क्षेत्रों से घिरा हुआ एेसा क्षेत्र है जहां भगवान राम ने वनवास का अधिकतम समय भी बिताया तो  दूसरी ओर डकैतों की शरण स्थली भी रहा। भाजपा को केवल 2008 में मामूली वोटों से जीत मिली तो कांग्रेस तीन बार यहां से चुनाव जीतने में सफल रही।...
देवदत्त दुबे -
वैसे तो मुख्यमंत्री ने जब से विधायकों से वन टू वन चर्चा की है तभी से उन्हें सक्रिय रहने एवं परफार्मेंस सुधारने की हिदायत देते आ रहे हैं लेकिन हाल ही में चित्रकूट विधानसभा के उपचुनाव में जितनी ताकत सत्ता और संगठन को लगानी पड़ी उससे सबक लेकर उन्होंने बुधवार को बुन्देलखंड के विधायकों को कुछ अन्य मुद्दों पर भी सचेत किया क्योंकि जब 2018 में विधानसभा के आमचुनाव होंगे तब 230 सीटों पर सत्ता और संगठन उतना फोकस नहीं बना पाएंगे जितना कि उपचुनाव में बना लेते हैं।
देवदत्त दुबे -
नोटबंदी पहले कालाधन रोकने फिर कैशलेश को बढ़ावा देने पर केंद्रित रहालेकिन नोटबंदी से अब देह व्यापार भी कम हो गया है। एेसा करना है केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद का। उन्होंने यहां तक कहा कि पहले बिचौलिये को केश पेमेंट हुआ करता था जो कम हुआ है। देश में नोटबंदी लागू हुए आज एक वर्ष हो गया। इस कारण इस एक वर्ष के बाद आज नोटबंदी से हुए नफा-नुकसान को गिनने और गिनाने के रूप में लिया जा रहा है। एक वर्ष बाद पक्ष और नोटबंदी को ही मुद्दा बनाये हुए हैं। कांग्रेस जहां आज पूरे देश में काला दिवस मनाएगी। वहीं भाजपा कालाधन मुक्ति दिवस के रूप में प्रचारित कर रही है।
चित्रकूट से देवदत्त दुबे -
अब तक कव्वालियों के प्रोग्राम के लिए जंगी मुकाबले का लाउडस्पीकर पर एलाउंस सुनते आए हैं लेकिन चित्रकूट में इस समय भाजपा और कांग्रेस के बीच जंगी मुकाबला हो रहा है। परिस्थितियां, प्रत्याशी, स्थानीय नेतृत्व की दमदारी से शुरुआती दौर में कांग्रेस ने जो माहौल अपने पक्ष में बना लिया था। उसका सत्ताधारी दल भाजपा मैनेजमेंट की दम पर जमकर मुकाबला कर रही है। दरअसल चित्रकूट विधानसभा के उपचुनाव के लिए अब केवल चार दिन ही शेष बचे हैं जबकि परसों शाम तक प्रचार समाप्त हो जाएगा। इस समय प्रचार अभियान पूरे शबाब पर है। कांग्रेस की ओर से जहां तीन और चार नवंबर को ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमलनाथ की सभाएं हो चुकी हैं वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 5, 6 और 7 नवंबर की शाम तक चित्रकूट में डेरा डालने वाले हैं। प्रदेश में अब तक जितने भी उपचुनाव हुए हैं उसमें भाजपा ने अधिकांश उपचुनाव में जीत दर्ज की है।....
देवदत्त दुबे -
इसमें कोई शक नहीं कि सत्ता और संगठन चित्रकूट में ठंड में भी पसीना बहा रहे हैं। लेकिन जिस प्रकार कमल को कीचड़ में खिलने में अनुकूलता और पथरीली भूमि पर प्रतिकूलता होती है वैसे ही भाजपा को कांग्रेस का गढ़ माना जाने चित्रकूट में जीतने के लिये भारी प्रतिकूलता का सामना करना पड़ रहा है। देश और प्रदेश में बिगड़े माहौल का असर चित्रकूट पर भी चोट कर रहा है लेकिन चित्रकूट को कांग्रेस से छीनने के लिये भाजपा आखिरी के तीन दिनों में उलटफेर करने की योजना पर काम कर रही है। सो भगवान राम की तपस्थली चित्रकूट इस समय साम, दाम, दण्ड, भेद का अखाड़ा बना हुआ है।...
देवदत्त दुबे -
कहने को मात्र एक विधानसभा में उपचुनाव है लेकिन इसके परिणाम से निकले संकेतों का कितना महत्व है कि प्रदेश के दोनों प्रमुख दलों भाजपा और कांग्रेस के दिग्गज नेताओं को चीन्ह-चीन्हकर चित्रकूट में भेजा जा रहा है जिसमें दोनों दलों में विश्वसनीय और चुनावी क्षमता-दक्षता विशेष रूप से देखी जा रही है। दरअसल, मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश जैसे देश के दो बड़े राज्यों को जोड़ने वाला चित्रकूट वह धार्मिक नगरी है जहां भगवान ने अपने 14 वर्षीय वनवास का अधिकतम समय बिताया था। ये चुनाव भी एेसे समय हो रहा है जब कांग्रेस प्रदेश में 14 वर्ष का वनवास पूरा कर चुकी है और यदि चित्रकूट कांग्रेस हारती है तो वनवास खत्म होने की चित्रकूट से अच्छा मैदान और कोई हो नहीं सकता था क्योंकि यहां भाजपा केवल 2008 के विधानसभा चुनाव में ही बड़ी मुश्किल से जीत पाई है।
देवदत्त दुबे -
मिशन 2018 के लिए कांग्रेस न केवल सक्रियता दिखा रही है वरन पार्टी में अनुशासन अौर बूथ मैनेजमेंट पर अभी से फोकस किया जा रहा है पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया स्वयं भी लगातार प्रदेश के दौरे कर रहे हैं और पार्टी नेताओं को भी सख्त निर्देश दे रहे हैं। दरअसल, कांग्रेस पार्टी की अब तक सबसे बड़ी कमजोरी अनुशासनहीनता और बूथ पर कमजोरी मानी जाती रही है और दीपक बाबरिया इसी कमजोरी को दूर करने में जुट गये हैं 22 से 24 अक्टूबर को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में अलग-अलग ग्रुपों में हुई बैठक में जो महत्वपूर्ण सुझाव उभरकर आये थे उनसे पार्टीजनों को अवगत करा दिया गया है जिसमें कहा गया है कि....
देवदत्त दुबे -
हार्दिक पटैल, अल्पेश ठाकोर और जिग्नेश मेवानी जैसे युवा नेत=त्व द्वारा गुजरात में भाजपा का विरोध और दिल्ली, इलाहाबाद, हैदराबाद सहित देश चुनिंदा विश्वविद्यालयों के छात्रसंघ चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की हार ने एेसा माहौल बना दिया कि युवा मन का भाजपा से मोह भंग हो रह है एेसी हवाओं के झोंके मध्यप्रदेश के युवा मन को भी झकझोर रहे हैं। सो, इस हवा को थामने के लिए मध्यप्रदेश में छात्र संघ के चुनाव का सहारा लिया जा रहा है जिससे एबीवीपी के प्रत्याशियों को जिताकर इस हवा को थामने का प्रयास किया जाएगा। दरअसल, मध्यप्रदेश में वैसे ही किसान और विभिन्न कर्मचारी संगठन आंदोलन चलाकर सत्ता विरोधी माहौल बनाये हुए हैं। एेसे में यदि युवाओं का भी सरकार से मोहभंग हो गया तोफिर सरकार के लिए मुश्किल बढ़ जाएगी।
देवदत्त दुबे -
मध्यप्रदेश को चार बार क=षि कर्मण दिलाने वाले किसान और सरकार के बीच लगातार अंतर बढ़ता ही जा रहा है। मंदसौर किसान आंदोलन के बाद पूरे प्रदेश में आक्रोशित को मनाने के लिए सरकार आनन फानन में भावान्तर योजना ले आई लेकिन भावान्तर के बीच के अंतर को नहीं भर पा रही है। क=षि मंडियों में अनाज का भाव न मिलने से गुरूवार को पूरे प्रदेशमें एक बार फिर से किसान भड़क उठे हैं। किसानों ने कहीं तालाबंदीा की तो कहीं चक्काजाम वहीं भोपाल किसान यूनियन के नेताओं की गिरफ्तारी भी की गई। दरअसल, प्रदेश में पिछले कुछ महीनों से लगातार किसान आंदोलित है इसी तरह के आंदोलन के चलते मंदसौर में जहां पुलिस की गोली से 6 किसानों की मौत हो गई वहीं टीकमगढ़ में आंदोलनकारी किसानों के कपड़े उतरवाकर थाने में बंद किया गया।
देवदत्त दुबे -
मध्यप्रदेश की राजनीति में अब जातीय रंग घुलने लगा है। चित्रकूट विधानसभा के उपचुनाव में अजाक्स और सपाक्स ने प्रत्याशी मैदान में उतारकर अपने-अपने मुद्दे उभारना शुरू कर दिये हैं जिससे प्रदेश के दो प्रमुख दलों भाजपा और कांग्रेस के प्रत्याशियों के चेहरे भी चोटिल हो रहे हैं। दरअसल, इस समय न तो प्रदेश में और न ही देश में आरक्षण के विरोध या समर्थन में कोई आंदोलन नहीं चल रहा है लेकिन प्रदेश में पदोन्नत में आरक्षण के विवाद के चलते अंदर ही अंदर ही एेसी आग धधक रही है जिसकी चपेट में अब अधिकारी और कर्मचारी सीधे तौर पर आ गये हैं। अजाक्स और सपाक्स संगठनों के माध्यम से अपनी-अपनी आवाज उठा रहे अधिकारी और कर्मचारी सीधे तौर पर राजनीति के मैदान में भी आ गये हैं और इसका पहला प्रयोग चित्रकूट विधानसभा के उपचुनाव में हो रहा है।
देवदत्त दुबे -
भोपाल। चित्रकूट विधानसभा के उपचुनाव के लिए नामांकन भरने का आज आखिरी दिन है। सो भारी कश्मकश के बीच कांग्रेस और भाजपा ने आखिरकार रविवार को अपने उम्मीदवार घोषित कर ही दिए। दोपहर को जैसे ही कांग्रेस उम्मीदवार नीलांशु चतुर्वेदी के नाम का एलान हुआ वैसे ही भाजपा में हलचल बढ़ी और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान ने भाजपा प्रत्याशी के रूप में शंकरदयाल त्रिपाठी की घोषणा कर दी।
देवदत्त दुबे -
चित्रकूट विधानसभा के उपचुनाव में प्रदेश के प्रमुख दलों भाजपा और कांग्रेस के अधिक=त प्रत्याशियों द्वारा सोमवार को नामांकन पत्र दाखिल करने के साथ ही भोपाल से लेकर चित्रकूट तक राजनैतिक चहल-पहल बढ़ गई है क्योंकि इस उपचुनाव के परिणाम बताएंगे कि मतदाता किस दल को चेतावनी दे रहा है और किस दल के प्रति अपनी चाहत जता रहे हैं।
देवदत्त दुबे -
प्रदेश में चित्रकूट विधानसभा के उपचुनाव की घोषणा एेसे समय में हुई जब पूरे देश में साथ-साथ प्रदेश में भी भाजपा की मुश्किलें बढ़ रही है। स्वयं मुख्यमंत्री चौहान इस समय चौतरफा चुनौतियों से जूझ रहे हैं ऊपर से चित्रकूट विधानसभा की तारीसर एेसी कि 1990 के बाद केवल एक बार 2008 में भाजपा चुनाव जीत पाई वो भी केवल 722 वोटों से उसमें भी बसपा प्रत्याशी रंजन वाजपेयी ने 18 हजार से ज्यादा वोटें लेकर कांग्रेस की स्थिति कमजोर कर दी। सो, दीपावली का अवसर और आर्थिक मंदी का दौर एेसे में चित्रकूट की चुनौती भाजपा के लिए और भी कठिन हो गई है। दरअसल, निर्वाचन आयोग ने शुक्रवार को सतना जिले की चित्रकूट विधानसभा के उपचुनाव घोषणा कर दी जिसके अनुसार 9 नवंबर को मतदान और 12 नवंबर को मतगणना होगी।
देवदत्त दुबे -
दीपावली के बाद मध्यप्रदेश में चित्रकूट और मुंगावली विधानसभा के उपचुनाव की घोषणा कभी भी हो सकती है, लेकिन मंुगावली में अभी से संग्राम खत्म हो गया है, क्योंकि मुंगावली, कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के लोकसभा क्षेत्र के अंतर्गत आता है। सिंधिया का नाम कांग्रेस खेमे में प्रदेश का चेहरा बनाने के लिए प्रमुखता से लिया जा रहा है तो सत्ताधारी दल भाजपा विधानसभा के आम चुनाव के पहले मंुगावली विधानसभा के उपचुनाव में सिंधिया को मात देना चाह रही है। दरअसल मध्यप्रदेश में जिस तरह की परिस्थिथियां बन रही हैं उसमें एक बात तो तय हो गई है कि प्रदेश में विधानसभा का आम चुनाव बेहद कांटे का होगा।
देवदत्त दुबे -
अब जबकि पूरे देश में नोटबंदी और जीएसटी के कारण भाजपा की घेराबंदी बढ़ गई है। विरोधियों के अलावा भाजपा नेता भी भाजपा सरकार के निर्णयों पर प्रश्नचिन्ह लगा रहे हैं जिसके कारण पूरे देश में माहौल में परिवर्तन आ रहा है। एेसे अहम मौके पर मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में संघ के दिग्गज नेताओं के बीच विचार मंथन शुरू हो गया है। देशभर के दिग्गज आर.एस.एस. नेता भोपाल पहुंच गये हैं और शनिवार की सुबह भोपाल के शारदा बिहार में पहली समन्वय बैठक भी हो चुकी है जिसमें संघ के उप प्रमुख भैयाजी जोशी सुरेश सोनी सहित प्रमुख नेताओं ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे, प्रदेशाध्यक्ष नंदकुमार चौहान, संगठन महामंत्री सुहास भगत और सह संगठन मंत्री अतुल राय के साथ चर्चा की। ....
देवदत्त दुबे -
पिछले दिनों संघ ने मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, हरियाणा और गुजरात में जो आंतरिक सर्वे कराय उसमें भाजपा फिसलपट्टी पर सवार नजर आई इस रिपोर्ट से भाजपा जहां भौचक्की रह गई वहीं संघ ने भाजपा को फिसलपट्टी से उतारने के लिए कमर कस ली है और 7 अक्टूबर से 15 अक्टूबर तक लगभग नौ दिन मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में भाजपा को फिसलन से उबारने एवं शिखर पर ले जाने के लिए देश भर के संघ पदाधिकारी रणनीति बनाएंगे। दरअसल,  नागपुर यदि संघ की राजधानी माना जाता है तो भोपाल को अघोषित उप राजधानी कहा जाता है और जब-जब गंभीर चिंतन और मंथन के अवसर आते हैं तब इसके लिए ताल-तलैयों के शहर भोपाल अनुकूल लगने लगता है। अब जबकि देश में विरोधियों से ज्यादा भाजपा के अपने भाजपा सरकारों के निर्णयों पर अंगुलियां उठाने लगे हो तब स्थितियां बेकाबू न हो जाय इसके लिए संघ ने मैदानी मोर्चा संभाल लिया है और.....
देवदत्त दुबे -
भोपाल। दस वर्षों तक मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रहे दिग्विजय सिंह के बारे में आमजन के जेहन में भले ही खट्टे-मीठे अनुभव हों, लेकिन दस साल में सिंह से उपकृत होने वालों का एक तबका ऐसा भी है जिसके और दिग्विजय सिंह के बीच के संबंधों में इन 14 सालों में ठहराव सा आ गया। सो कल से शुरू हो रही दिग्विजय सिंह की नर्मदा यात्रा से कितना प्रायश्चित, पाप, पुण्य, प्रतिफल अर्जित करेंगे न तो इसका कोई प्रत्यक्ष लेखा-जोखा हो सकता है, न ही कोई मापदंड लेकिन 14 साल तक प्रदेश की राजनीति से अपने-आपको सक्रिय भूमिका से दूर रखने के कारण संबंधों में जो ठहराव आ गया था वह इस यात्रा से कितना पुनर्जीवित होता है शायद इसी से 6 महीने बाद दिग्विजय सिंह की राजनीतिक भूमिका तय होगी।
देवदत्त दुबे -
प्रदेश भाजपा के तमाम दिग्गज नेता कुछ महीनों से कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के पीछे पड़े हैं। भाजपा को यह मुगालता था कि सिंधिया दबाव मंे आ जाएंगे। गुना-शिवपुरी क्षेत्र में सिंधिया का प्रभाव कम हो जाएगा लेकिन गुरूवार को मुंगावली में सिंधिया महेन्द्र सिंह कालूखेड़ा के बहाने एक बड़ी सभा करके भाजपा के मुगालते को दूर कर दिया। दरअसल, मिशन 2018 के लिए धीरे धीरे प्रदेश में माहौल गरमाता जा रहा है। इस कारण  आरोप-प्रत्यारोप के दौर भी बढ़ गये हैं। कांग्रेस के तमाम बड़े नेता पूर्व केन्द्रीय मंत्री कमलनाथ, ज्योतिरादित्य सिंधिया, दिग्विजय सिंह, सुरेश पचौरी, अरूण यादव एवं अजय सिंह लगातार भाजपा और उसके नेताओं के खिलाफ बयान जारी कर रहे हैं।
देवदत्त दुबे -
मध्यप्रदेश में मिशन 2018 के लिए तैयारियों में जुटे दोनों प्रमुख दल भाजपा और कांग्रेस के लिए आगामी दिनों दो विधानसभा के उपचुनाव सेमीफायनल के रूप में देखे जा रहे हैं। जहां भाजपा की ओर से प्रतिष्ठा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह की ही दांव पर होगी तो कांग्रेस की ओर से मुंगावली में पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया एवं चित्रकूट में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह की अग्निपरीक्षा होगी। दरअसल, प्रदेश की राजनीति में दोनों प्रमुख दल भाजपा और कांग्रेस में कशमकश का दौर चल रहा है। सत्तारूढ़ दल भाजपा में जहां मंत्रिमंडल विस्तार की कठिन चुनौती है तो कांग्रेस में प्रदेश की कमान को लेकर चल रहे द्वंद्व को स्थायित्व देने की चुनौती, लेकिन इस बीच दोनों दलों के सामने 2018 के पहले विधानसभा के दो उपचुनाव की चुनौती सेमीफायनल के रूप में देखी जा रही है जो मिशन 2018 के लिए....
देवदत्त दुबे -
भोपाल। राजधानी भोपाल में दो दिन से चल रही संघ और भाजपा की समन्वय बैठक में शिक्षा, सहकारिता, कृषि, उद्योग के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों के संबंध में मध्यप्रदेश के चुनिंदा मंत्रियों के साथ चर्चा की लेकिन सामाजिक मोर्चे से भी ज्यादा आर्थिकी के मोर्चे पर ज्यादा फोकस रहा। देश में तेजी से बदलती परिस्थितियों ने संघ को भी नए सिरे से सोचने पर मजबूर कर दिया है। बढ़ती महंगाई, बढ़ती बेरोजगारी से समाज में संकट बढ़ रहा है। इसलिए संघ ने पहले दिन मिशनरीज शिक्षा के समाज में बढ़ते दबदबे पर नाराजगी व्यक्त की और कहा कि जब पिछले शिक्षण सत्र में फीस एक्ट लागू करने की बात पर सहमति बन गई थी तो अब तक इसे लागू नहीं करने की क्या वजह है।
मध्यप्रदेश में इस समय सत्ता के गलियारे में एक और मंत्री की सीडी को लेकर खुसर-पुसर चल रही है जबकि सत्ता और संगठन हर हाल में मामले को दबाने में जुट गया है वहीं नेता प्रतिपक्ष ने मंत्री को हटाने की मांग कर दी है। दरअसल, मध्यप्रदेश में पहले भी भाजपा नेताओं की सीडी सार्वजनिक होने से खासी मुसीबतें झेल चुकी है और सीडी वाले नेताओं को पद से हटा चुकी है। एक समय भाजपा के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री संजय जोशी की एक कथित सीडी सामने आने के बाद उन्हें पद से हाथ धोना पड़ा था।
भाजपा में जैसे  होड़ शुरू हो गई है कि कौन कितने बिगड़े बोल बोल कर दिखा सकता है नेताओं के बिगड़े बोल से ही पार्टी की क्रिकेट को रोकने आज शाम मुख्यमंत्री निवास पर प्रदेश के दिग्गज नेता कसरत करेंगे दर्शन प्रदेश में इस समय प्रदेश के कोने कोने से भाजपा नेताओं के बिगड़े बोल सुनाई दे रहे हैं भाजपा के बबूल विधायक बेल सिंह भूरिया एक बार फिर विवादों में हैं अपने गृह क्षेत्र सरदारपुर में एक कार्यक्रम मैं उन्होंने मीडिया पर जमकर भड़ास निकाली और मंच से ही यह भी कह दिया की मैं एकलव्य के खानदान का हूं कोई कुत्ता भोक्ता है तो उसके मुंह में तीर डालने की ताकत रखता हूं धार जिले के सरदारपुर में किसान हितग्राही सम्मेलन में बोले गए बेल सिंह भूरिया के यह बोल सोशल मीडिया और इलेक्ट्रॉनिक्स मीडिया में दिन भर छाए रहे वही सतना जिले में चित्रकूट के जवारे गांव में जनसमस्या निवारण शिविर में.....
देवदत्त दुबे -
म.प्र. में केवल 39% लोगों को पीने का पानी पाईप से मिलता है, गुजरात में 95% लोगों को पीने का पानी पाईप से मिलता है, मध्यप्रदेश में स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल उद्योग, ग्राम विकास और जल संसाधन को मजबूत बनाने के लिए नीति आयोग फोकस बनाएगा। इन क्षेत्रों के लिए एेसी योजनाएं बानई जाएगी जिससे प्रदेश में कृषि के क्षेत्र जैसी प्रगति हो सके। दरअसल, नीति आयोग के सदस्य प्रोफेसर रमेश चंद्र, उच्च स्तरीय दल के साथ सोमवार को दिनभर राजधानी भोपाल में सक्रिय रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री सहित, विभिन्न अधिकारियों के साथ बैठकें करके म.प्र. के बारे में विस्त=त चर्चा की।
कनाडा में एक तरफ जहां भारत, अमेरिका समेत 20 देशों के प्रतिनिधि कोरिया संकट के समाधान के लिए माथापच्ची कर रहे हैं, वहीं नॉर्थ कोरिया ने एक बार फिर शांति की कोशिशों को झटका देने की कोशिश की है। मंगलवार को नॉर्थ कोरिया ने अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के उस ट्वीट संदेश पर आपत्तिजनक टिप्पणी की......
नई दिल्लीः इन दिनों भारतीय जनता पार्टी पर साउथ के मशहूर अभिनेता प्रकाश राज के शीत युद्ध जारी है। इसी का ताजा उदाहरण कर्नाटक में भी देखने को मिला। एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे अभिनेता के जाने के बाद भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने गौमूत्र से मंच को धोया।
बेंगलुरुः कर्नाटक में चुनावी रंग परवान चढ़ने लगा है। आगामी विधानसभा चुनाव से पहले सत्ताधारी कांग्रेस और बीजेपी के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। योगी आदित्यनाथ की खिंचाई के बाद सीएम सिद्धारमैया ने एक बार फिर भाजपा पर हमला बोला है। सिद्धारमैया ने कांग्रेस को पांडवों की तरह और भाजपा को कौरव बताया है।
अमेरिका के कैलिफोर्निया स्थित एक घर में अपने ही 13 बच्चों को बंधक बनाकर रखने वाले एक दंपति को गिरफ्तार किया गया है. 57 वर्षीय डेविड एलेन तुरपिन और 49 वर्षीय लुइस अन्ना तुरपिन के सभी 13 बच्चे कुपोषित हालत में मिले. उनकी आयु दो से लेकर 29 वर्ष तक है. पुलिस के मुताबिक, बच्चों को जब मुक्त कराया गया, उस समय कुछ बच्चे अंधेरे में पलंग से बंधे थे.
जालंधरः जापान की वाहन निर्माता कम्पनी Isuzu ने भारत में अपनी Isuzu D-Max  की V-Cross कार को लांच कर दिया है। कीमत की बात करें तो इसकी High ट्रिम की एक्स-शोरूम कीमत 15.76 लाख रुपए और Standard ट्रिम की एक्स-शोरूम कीमत 14.26 लाख रुपए रखी गई है। वहीं, इस कार को एक नए कलर ऑप्शन रूबी रेड में लांच किया गया है।
मुंबईः कमला मिल हादसे में पुलिस ने एक और गिरफ्तारी हुई है। मोजोस बिस्ट्रो पब के मालिक युग तुली ने मंगलवार को मुंबई पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। पिछले 29 दिसंबर को हुई इस घटना में 14 लोग मारे गए थे। आत्मसमर्पण करने के बाद तुली को गिरफ्तार कर लिया गया।
14-01-2018
भोपाल। प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड ने खाद्य महकमे के 143 कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारियों की भर्ती में पेंच लगा दिया है। विभाग अभी तक इन पदों पर डिप्लोमाधारकों को भी आवेदन करने का मौका देता आया है। लेकिन इस बार प्रोफेशनल एक्जामिनेशन बोर्ड ने विभाग के प्रस्ताव को यह कहते हुए लौटा दिया कि इस पद के लिए डिग्री अनिवार्य है इसलिए डिप्लोमाधारकों को इसके लिए आवेदन नहीं कर पाएंगे।
16-01-2018
भोपाल : मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा अपने सुरक्षाकर्मी को कथित रूप से थप्पड़ मार कर धक्का देने का मामला चर्चा का विषय बना हुआ है। यह घटना रविवार की है। शिवराज नगर पालिका चुनाव में प्रचार के लिए सरदारपुरा गए हुए थे। उन्होंने वहां रोड शो भी किया था।
दिनेश निगम ‘त्यागी’
-सच क्या है यह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एवं भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ही जाने, पर गुजरात में भाजपा की नई सरकार के शपथ ग्रहण शुरू होने से पहले ही वापस लौटने की वजह से शिवराज सिंह को लेकर शुरू हुआ अटकलों का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसे शिवराज से भाजपा नेतृत्व की नाराजगी से जोड़कर देखा जा रहा है। कहा जा रहा है कि उनकी कुर्सी खतरे में है। ऐसी ही अटकलें अमित शाह के उज्जैन दौरे के बाद प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान को लेकर चल पड़ी हैं। हालांकि इनका कोई ठोस आधार नहीं है। मुख्यमंत्री तो गुजरात से वापस लौटने के बाद मीडिया के सवाल के जवाब में और ट्वीट के जरिए स्पष्टीकरण देते हुए कह चुके हैं कि उनका पहले से कार्यक्रम निर्धारित था इसलिए वे मुख्यमंत्री....
16-01-2018
बोगोटा। सेंट्रल कोलंबिया में एक निर्माणाधीन ब्रिज गिरने की वजह से दस लोगों की मौत हो गई। वहीं इस हादसे में कई मजदूर अभी भी लापता हैं। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने अधिकारियों के हवाले से बताया कि इस घटना में 2 लोग लापता हैं, जबकि 4 घायल हो गए हैं। चिराजारा में बन रहा ये ब्रिज, मेटा प्रांत में आता है और ये उस हाईवे का हिस्सा है, जो राजधानी बोगोटा को विलाविसेनसियो से जोड़ता है और अभी इसे आवाजाही के लिए नहीं खोला गया है।
16-01-2018
ganpat vasava 16 01 2018अहमदाबाद। प्रदेश के कैबिनेट मंत्री गणपतसिंह वसावा की कार पर हमला करने का मामला सामने आया है। एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे मंत्री की कार पर कुछ अनजान लोगों ने पथराव कर दिया, जिसके कारण मंत्री जी को कार्यक्रम से मजबूरन वापस लौटना पड़ा। यह घटना रविवार की है।
16-01-2018
मुंबई। चोट की वजह से नियमित विकेटकीपर रिद्धिमान साहा दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होने वाले तीसरे टेस्ट से बाहर हो गए। उनकी जगह दिनेश कार्तिक को भारतीय टीम में शामिल किया गया है और वे 24 जनवरी से होने वाले तीसरे टेस्ट से पहले भारतीय टीम के साथ जुड़ेंगे। साहा हैमस्ट्रिंग की चोट से जूझ रहे हैं और इसी के चलते वे अंतिम समय में दूसरे टेस्ट की प्लेइंग इलेवन से बाहर हुए थे।
16-01-2018
patanjali 16 01 2018नई दिल्ली। पहले ही एफएमसीजी सेक्टर में काफी उथल-पुथल मचा चुकी पतंजलि आयुर्वेद अब ई-कॉमर्स के जरिये धमाका करने जा रही है। पतंजलि आयुर्वेद ने मंगलवार को एक साथ ई-कॉमर्स क्षेत्र की आठ बड़ी कंपनियों के जरिये अपने उत्पादों की बिक्री शुरू करने का एलान किया है। इसका मतलब हुआ कि.....
कैबिनेट: सातवें वेतनमान पर बैठक में नहीं हुई चर्चा, मेधावी छात्रों की फीस देगी सरकारभोपाल। सीएम शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में कई अहम प्रस्तावों पर चर्चा हुई। हालांकि, सातवें वेतनमान का मुद्दा स्थगित कर दिया गया। कयास लगाई जा रही थी कि प्रदेश के साढ़े चार लाख कर्मचारियों को 1 जुलाई 2017 से ...
भोपाल/ प्रदेश के गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने मंगलवार को विधानसभा में घोषणा की कि लोगों के करोड़ों रुपए ठग कर भागने वाली कंपनियों की मानीटरिंग एवं समय पर कार्रवाई करने के उद्देश्य से पुलिस मुख्यालय में एडीजी के नेतृत्व में एक मानीटरिंग सेल का गठन किया जाएगा। इसके साथ रिजर्व बैंक आफ इंडिया को पत्र लिखकर आग्रह किया जाएगा कि वे कंपनियों को लाइसेंस जारी करने से पहले पुलिस का सत्यापन अनिवार्य करें। गृह मंत्री विधानसभा में भाजपा के यशपाल सिंह सिसोदिया द्वारा लाए गए ध्यानाकर्षण एवं सदस्यों द्वारा व्यक्त की गई आशंकाओं का जवाब दे रहे थे।


बाहुबली 2बाहुबली जब से रिलीज हुई है तब से फिल्मी दुनिया पर छाई हुई है. भारत में सफलता पाने वाली बाहुबली 2 विदेश को विदेशों में भी काफी सराहा जा रहा है. खबर है कि बाहुबली 2 मोस्को के अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में ओपनिंग फिल्म के तौर पर दिखाई जाएगी.
सर्दियों मेें धूप हर किसी को ही अच्छी लगती है लेकिन आजकल लोग या तो टैनिंग की वजह से या फिर अपने काम काज के कारण धूप नहीं ले पाते लेकिन यदि आप इसके फायदों के बारे में जानेगें तो आपको पता चलेगा कि धूप लेने से कितनी ही बीमारियां ठीक होती है।
.......
25 सितंबर
उपांग ललिता पंचमी व्रत। ललिता पंचमी। सोमवती पंचमी पर्व। बुध अस्त पूर्व में 16/22 पर।
26 सितंबर
बुध कन्या राशि में 10/28 पर। शुक्र पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र में 26/20 पर।
27 सितंबर
मूल नक्षत्र में सरस्वती देवी का आवाह्न। भद्रकाली अवतार। अन्नपूर्णा परिक्रमा प्रारम्भ 19/09 बजे से। ओली प्रारम्भ (जैन) चतुर्थी पक्ष। सूर्य हस्त नक्षत्र में 05/56 पर। सूर्य-सूर्य, स्त्री-नपुंसक योग, वाहन मूषक, वायु नाड़ी, तदीश सूर्य (पुरुष), अत: बहुत हवा चले अनावृष्टि हो।
28 सितंबर
दुर्गाष्टमी व्रत। महाष्टमी। अष्टमी का हवनादि आज ही करें। पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र में सरस्वती देवी का पूजन। अन्नपूर्णा परिक्रमा समाप्त 21/37 बजे। ओली प्रारम्भ (जैन पंचमी पक्ष)। श्री अष्टभुजी दुर्गा शक्ति पीठ (दुर्गा मंदिर) कानपुर में शतचण्डी यज्ञ का हवन पूर्णाहुति एवं महाप्रसाद वितरण। शक्ति संगीत सभा।
29 सितंबर......


iPage

iPage

Powerful Web Hosting and Domain Names for Home and Business

Our Platform Serves Over 1,000,000 Websites
click to chat with a live agent

This site is temporarily unavailable

If you manage this site and have a question about why the site is not available, please contact iPage directly.